Mon. Jun 17th, 2024

प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर पांडे ने ग्राम प्रधानों की समस्याओं के मद्देनजर अपर प्रमुख सचिव उत्तरप्रदेश शासन को लिखा पत्र.

blank By vijay kumar mishra Jun6,2024
blank

लखनऊ/दिनांक 05/06/2024

प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर पांडे ने ग्राम प्रधानों की समस्याओं के मद्देनजर अपर प्रमुख सचिव उत्तरप्रदेश शासन को लिखा पत्र.

राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर पांडे ने अपर प्रमुख सचिव पंचायती राज उत्तर प्रदेश शासन को लिखा पत्र..

विषय:- उत्तर प्रदेश के समस्त ग्राम पंचायत में ई ग्राम स्वराज पोर्टल पर योजनाओं को अपलोड किए जाने एवं कार्य के उपरांत भुगतान “ग्राम सचिवालय में स्थापित कंप्यूटर सिस्टम के माध्यम से किए जाने के संबंध में
निदेशक पंचायतीराज उत्तरप्रदेश के पत्रांक 6/801/2018-81256(4)202 4- 2025 लखनऊ दिनांक 24 मई 2024 को पुनर्विचार कर निष्क्रिय (समाप्त कराने हेतु)

प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर पांडे ने निवेदन पूर्वक आग्रह किया है कि कृपया मेरे पत्र दिनांक 28/05/2024 (ईमेल)को निदेशक महोदय पंचायतीराज को संबोधित सात पृष्ठिय पत्र आपकी सेवा में प्रेषित है उसका संज्ञान लेने का कष्ट करें। कृपया निदेशक महोदय पंचायतीराज के उक्त पत्र पर उत्तरप्रदेश के समस्त ग्राम प्रधान के अंदर गहरा असंतोष व रोष व्याप्त है। इस पत्र द्वारा अल्प मानदेय भोगी एवं अल्प समयावधि के कर्मी पंचायत सहायक को वित्तीय प्रबंध की गेटवे प्रणाली में क्यू. आर.कोड वेरीफायर के रूप में इनके पंजीयन के बाद भुगतान कराने की व्यवस्था दी गई है। जो कत्तई उचित नहीं है। पूर्ण रूप से अव्यवहारिक है। उन्होंने कहा कि महोदय उक्त बातों को संज्ञान में लेने की कृपा करें। पंचायत सहायक की नियुक्ति सामान्य हाई स्कूल व इंटरमिडियट नॉन टेक्निकल मेरिट के आधार पर की गई है,जो कि एक वर्ष की संविदा की अनूबंध पर ग्राम पंचायत में रखे गए हैं। तथा ग्राम पंचायत द्वारा कार्य संतोषजनक पाए जाने पर नवीनुवर्ष “नवीनीकरण” अधिकतम दो वर्ष के लिए किया जा सकेगा। कृपया शासनादेश के अनुसार ग्राम पंचायत सहायक का अनुबंध ग्राम पंचायत से अधिकतम 03वर्ष के लिए किया जा सकता है। अधिकांश मानदेय पर कार्यरत पंचायत सहायकों का कार्यकाल दिसंबर 24 में समाप्त हो जायेगा। प्रदेश के 10% ग्राम पंचायतो में पंचायत सहायक है ही नहीं। यह क्रम बना रहेगा। अपना भविष्य अन्यत्र खोजने वाले पंचायत सहायक कभी भी काम को छोड़कर चले जाएंगे। कृपया संज्ञान लेने की कृपा करें। बर्तन वर्तमान समय में कार्यकाल बहुत कम रह गया है। अनावश्यक प्रयोग करना ग्राम पंचायत के हित में नहीं है। पहले से ही पंचायतीराज उत्तरप्रदेश ग्राम पंचायत में बहुत मजबूत और सुदृढ़ व्यवस्था है। नया प्रयोग करना बिल्कुल उचित नहीं है। यदि इसी तरह नित नए-नए प्रयोग होते रहे तो ग्राम पंचायत की व्यवस्था बिगड़ जाएगी। और ग्राम प्रधान अपना मनोबल खो देंगे, जो प्रदेश के हित में नहीं होगा।

प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर पांडे ने सादर अनुरोध किया है कि कृपया जनहित में पत्र की अव्यवहारिकता तथा प्रदेश भर के ग्राम प्रधानों के भारी असंतोष के मद्देनजर उक्त पत्र को वापस लेने को कहने की कृपा करें। ग्राम प्रधान संगठन सदैव आपका आभारी रहेगा।

प्रतिलिपि- निजी सचिव मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन।

कौशल किशोर पांडे, प्रदेश अध्यक्ष/राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन उत्तर प्रदेश।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *