Wed. Jun 12th, 2024

मनरेगा श्रमिको द्वारा कराये जा रहे कार्यों का स्थलीय औचक निरीक्षण एवं कार्यों का सत्यापन जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं उपायुक्त (श्रम रोजगार) के द्वारा*

blank By vijay kumar mishra May29,2020

सिद्धार्थनगर
29 मई 2020

*मनरेगा श्रमिको द्वारा कराये जा रहे कार्यों का स्थलीय औचक निरीक्षण एवं कार्यों का सत्यापन जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं उपायुक्त (श्रम रोजगार) के द्वारा*

जनपद में मनरेगा श्रमिकों को रोजगार देने का कार्य अभियान के रूप मे कराया जा रहा है। जिलाधिकारी दीपक मीणा, मुख्य विकास अधिकारी पुलकित गर्ग के निर्देशानुसार जिला प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा कार्यों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। मनरेगा श्रमिको द्वारा कराये जा रहे कार्यों का स्थलीय औचक निरीक्षण एवं कार्यों का सत्यापन जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं उपायुक्त (श्रम रोजगार) द्वारा किया जा रहा है।
इसी क्रम में विकास खण्ड बढ़नी के ग्राम पंचायत पथरदेईया में उपायुक्त (श्रम रोजगार) द्वारा औचक निरीक्षण किया गया जिसमें निर्गत मास्टर रोल 632 के सापेक्ष 326 मनरेगा श्रमिक कार्य करते पाये गये। इसके अलावा 9 पशु शेडों पर धनराशि आहरित कर कार्य को पूर्ण नहीं कराया गया।
निरीक्षण के उपरान्त भारी अनियमितता पाये जाने के कारण जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में (1).ग्राम रोजगार सेवक राम सूरत यादव को संविदा आधारित सेवा से पृथक किये जाने की कार्यवाही की गयी।
2. ग्राम पंचायत अधिकारी महेश्वरी प्रसाद पाण्डेय को निलम्बित कर दिया गया है।
3. मनरेगा योजनान्तर्गत कार्यरत संविदा कर्मी ब्रम्हानन्द मिश्रा, तकनीकी सहायक को 6 माह का मानदेय रोक दिया गया है।
4. देवेन्द्र कुमार श्रीवास्तव लेखा सहायक को 1 माह का मानदेय रोक दिया गया है।
5. राम कुंमार विश्वकर्मा, कम्प्यूटर आपरेटर को 1 माह का मानदेय रोक दिया गया है।
6. प्रमोद कुमार ,अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी को 3 माह का मानदेय रोक दिया गया है।
जिलाधिकारी दीपक मीणा एवं मुख्य विकास अधिकारी पुलकित गर्ग द्वारा संयुक्त रूप से निर्देश दिया गया है कि जनपद के समस्त विकास खण्डों में मनरेगा योजनान्तर्गत मनरेगा श्रमिकों द्वारा किये जा रहे कार्यों का औचक निरीक्षण कर सत्यापन किया जायेगा अनियमितता पाये जाने पर सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

Related Post