Thu. Jun 13th, 2024

श्रावण मास में रुद्राभिषेक व शिव आराधना से होता मानव का कल्याण,आचार्य ऋषि जी

blank By vijay kumar mishra Aug22,2021

श्रावण मास में रुद्राभिषेक व शिव आराधना से होता मानव का कल्याण,आचार्य ऋषि जी

blank blank

News 17 india editer in chif vijay kumar mishra..21/08/2021

सिद्धार्थ नगर क्षेत्र के बांसी तहसील के अंतर्गत विकशखण्ड खेसरहा बाबा पिढेश्वर नाथ महादेव मंदिर पर चल रहे सावन माह के शनिवार को रुद्राभिषेक के दौरान श्रीआचार्य ऋषिजी ने कहा कि रुद्राभिषेक करने से मानव का हर इच्छा और रोगमुक्त और धन प्राप्ति को प्राप्त कर सकता है, रुद्राभिषेक करने से मनुष्य का हमेशा कल्याण होता है।

उपरोक्त बातें बाबा पिढेश्वर नाथ महादेव मंदिर पर चल रहे रुद्राभिषेक के दौरान श्रीआचार्य ऋषिजी ने कहा कि रुद्राभिषेक भगवान शिव को प्रसन्न करने का सबसे प्रभावी उपाय है। श्रावण सावन मास या शिवरात्रि के दिन यदि रुद्राभिषेक किया जाये तो इसकी महत्ता और भी बढ़ जाती है।

रुद्राभिषेक का अर्थ है भगवान रुद्र का अभिषेक अर्थात शिवलिंग पर रुद्र के मंत्रों के द्वारा अभिषेक करना।
जीवन में कोई कष्ट हो या कोई मनोकामना हो तो सच्चे मन से रुद्राभिषेक कर के देखें निश्चित रूप से अभीष्ट लाभ की प्राप्ति होगी। रुद्राभिषेक ग्रह से संबंधित दोषों और रोगों से भी छुटकारा दिलाता है। शिवरात्रि, प्रदोष और सावन के सोमवार को यदि रुद्राभिषेक करेंगे तो जीवन में चमत्कारिक बदलाव महसूस करेंगे।

सनातन धर्म में भगवान शिव को भोले शंकर,भोलेनाथ भी कहा गया है। दरअसल भगवान शिव की सच्चे मन से पूजा करने वाले भक्तगण बड़ी आसानी और सरलता से भगवान शिव को प्रसन्न किया जा सकता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव जी को कुछ चीजें बेहद पसंद हैं। जैसे तीर्थ के जल से ,इत्र मिले जल से, दूध से , सरसों ,शहद तथा घी तथा गन्ने के रस और तमाम तरह के सामग्री से रुद्राभिषेक करने का विधान है।

इस अवसर पर मंदिर के प्रबंधक अशोक कुमार त्रिपाठी, दिलीप त्रिपाठी, धर्मेंद्र त्रिपाठी, पंडित हनुमान प्रसाद मिश्रा, शंभू नाथ तिवारी, विनय मिश्रा, गोपाल त्रिपाठी, आज सैकड़ों श्रद्धालुओं की गरिमामयी उपस्थित रही…

प्रेस विज्ञप्ति :- अशोक कुमार त्रिपाठी बाबा पिंढेश्वरनाथ मंदिर के प्रबंधक के द्वारा समाचार प्रकाशन हेतु प्रेषित…

Related Post