Thu. Jun 13th, 2024

ब्रेनस्ट्रोक यानी (मस्तिष्क आघात) के मरीज की कैसे करें पहचान-

blank By vijay kumar mishra Aug20,2021

ब्रेनस्ट्रोक यानी (मस्तिष्क आघात) के मरीज की कैसे करें पहचान-

blank blank blank

ब्रेन-हेमरेज (ब्रेन-स्ट्रोक) दिमाग़ की नस का फटना..मस्तिष्क आघात के मरीज़ को कैसे पहचानें ???

बामुश्किल एक मिनट का समय लगेगा, आईए जानते हैं-न्यूरोलॉजिस्ट क्या कहते हैं इस बीमारी के बारे में…

अगर कोई व्यक्ति ब्रेन स्ट्रोक हो जाने के, तीन घंटे के अंदर, अगर उनके पास पहुँच जाए तो स्ट्रोक के प्रभाव को पूरी तरहसे समाप्त रिवर्स किया जा सकता है। उनका मानना है कि सारी की सारी ट्रिक बस यही है कि कैसे भी स्ट्रोक के लक्षणों की तुरंत पहचान कर, मरीज़ को जल्द से जल्द यानि तीन घंटे के अंदर-अंदर डाक्टरी चिकित्सा मुहैया हो सके, और बस दुःख इस बात का है कि अज्ञानतावश यह सब संभव नहीं हो पाता है!!!मस्तिष्क के चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार स्ट्रोक के मरीज़ की पहचान के लिए तीन अतिमहत्वपूर्ण बातें जिन्हें वे STR कहते हैं, सदैव ध्यान में रखनी चाहिए। अगर STR नामक ये तीन बातें हमें मालूम हों तो मरीज़ के बहुमूल्य जीवन को ब्रेन स्ट्रोक से बचाया जा सकता है।

*ये 3 बातें इस प्रकार हैं-*

1) S=Smile अर्थात उस व्यक्ति को मुस्कुराने के लिये कहिए।

2) T = Talk यानि उस व्यक्ति को कोई भी सीधा सा एक वाक्य बोलने के लिये कहें, जैसे- ‘आज मौसम बहुत अच्छा है’ आदि।

3) R = Raise अर्थात उस व्यक्ति को उसके दोनों बाजुओं को ऊपर उठाने के लिए कहें…

अगर उस व्यक्ति को उपरोक्त तीन कामों में से एक भी काम करने में दिक्कत है, तो तुरंत एम्बुलेंस बुलाकर उसे न्यूरो-चिकित्सक के अस्पताल में शिफ्ट करें, और जो आदमी मरीज के साथ जा रहा है उसे इन लक्षणों के बारे में संबंधित डॉक्टर को जरूर बता दें। ताकि पहले से ही डाक्टर को इस बीमारी के बारे में सही जानकारी मिल सके।

*इनके अलावा ब्रेन स्ट्रोक का एक लक्षण यह भी है-*

ब्रेन स्ट्रोक के मरीज को अपनी जीभ बाहर निकालने को कहें। अगर उसकी जीभ सीधी बाहर नहीं आकर, एक तरफ़ मुड़ सी रही है, तो यह भी ब्रेन-स्ट्रोक का एक प्रमुख लक्षण है।

सुप्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट का कहना है कि अगर इसकी सही जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगो को पढ़ने को मिले तो निश्चित तौर पर, कुछ न कुछ बेशकीमती “जानें” तो बचाई ही जा सकती हैं!!! इसलिए जरूरी है कि इस जानकारी को अधिकतम लोगों तक पहुंचाना ताकि लोगो को इस खतरनाक बीमारी के बारे में सही जानकारी मिल सके…ताकि बेशकीमती जान को सही समय पर सही इलाज करके बचाया जा सके…….
***********************************
News 17 india editer in chif vijay kumar mishra…

Related Post